होली के 6 सदाबहार फिल्मी गानें 2020 || HOLI SONGS LYRICS

नमस्कार दोस्तों ,

    मैं  meetmasum  इस पोस्ट में होली के कुछ बेहतरीन सदाबहार गाने के बोल शब्दों के रूप में आपके सामने प्रस्तुत करने जा रही हूँ |
     होली आ गयी है और होली के गानों के बिना होली का मज़ा अधूरा होता है | गांव में महिलाये होली गीत गाती  है , लेकिन शहरों में ज्यादातर फिल्मी गानों का चलन है |  काम के दबाव के वजह से गीत गाने का चलन कम हो गया है |
      हमारे फिल्मो के कुछ बहुत ही प्रशिद्ध गाने है जो हर बार होली में चारो और जरूर सुनने को मिलता है| ये गाने हमारे होली के मज़े को चार गुना बढ़ा देते हैं | वातावरण में एक अलग ही धूम मची होती है | बच्चे बूढ़े और जवान सभी इन गानों को गुनगुनाते हैं |
     आईये हम ऐसे ही कुछ गानों को शब्दसः याद कर लें  और होली के दिन अपनी जुबानी गायें |




1981 में आयी फिल्म "सिलसिला" का गाना रंग बरसे भीगे चुनरवाली है जो अभिनेता अमिताभ बच्चन के ऊपर फिल्माया गया है जिसे हरिवंश राय बच्चन ने लिखा है और इस गाने को गाया है  खुद अमिताभ बच्चन ने | 
रंग बरसे 
रंग बरसे... भीगे चुनरवाली रंग बरसे
होली है...
अरे कैने मारी पिचकारी तोरी भीगी अंगिया
ओ रंग रसिया, रंग रसिया हो

होए...
रंग बरसे... अरे रंग बरसे
भीगे चुनरवाली रंग बरसे
हो रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे

हो रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे
हो रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे
हाँ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे

सोने की थारी में जोना परोसा
सोने की थारी में जोना परोसा
अरे सोने की थाली में
हाँ सोने की थारी में जोना परोसा
अरे खाए गोरी का यार
बलम तरसे रंग बरसे

होली है...
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे

लौंगा इलाची का
अरे लौंगा इलाची का भाई
हाँ लौंगा इलाची का!?

हाँ. अरे लौंगा इलाची का बीड़ा लगाया
लौंगा इलाची का बीड़ा लगाया
अरे लौंगा इलाची का
हाँ लौंगा इलाची का बीड़ा लगाया

अरे चाबे गोरी का यार बलम तरसे रंग बरसे
होली है...
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवा
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे

अरे बेला चमेली का. सेज बिछाया
अरे बेला चमेली का. सेज बिछाया
बेला चमेली का. सेज बिछाया
बेला चमेली का. सेज बिछाया
अरे बेला चमेली का
हाँ बेला चमेली का. सेज बिछाया

सोए गोरी का
सोए गोरी का यार, बलम तरसे रंग बरसे
होली है...
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे
ओ रंग, बरसे, भीगे, चुनरवा, लीरंग, बरसे
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे

ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे
ओ रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे हो
अरे रंग बरसे भीगे चुनरवाली रंग बरसे हाय || 
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
1975 में आई सुपरहिट "शोले" फिल्म का गाना होली के दिन दिल मिल जाते है तो सबकी जुबान पर होली के दिन होता ही है | इसे लता मंगेशकर जी और किशोर कुमार जी ने गाया है | 
होली के दिन दिल मिल जाते 
चलो सहेली.. चलो रे साथी..
चलो सहेली.. चलो रे साथी.
ये पकड़ो ये.. पकडूं इससे ना छोडो
अर्रे अर्रे अर्रे बइया ना तोडो
ओ ठहेर जा भाभी
अरे जारे शराबी
क्या हो राजा गली में आजा
होली होली गाओं की गोरी ओ नखरेवाली
दूँगी मैं गली अर्रे रामू की साली
होली रे होली
होली के दिन दिल खिल जाते हैं
रंगों में रंग मिल जाते हैं
होली के दिन दिल खिल जाते हैं
रंगों में रंग मिल जाते हैं
गीले शिकवे भूल के दोस्तों
दुश्मन भी गले मिल जाते हैं
होली के दिन दिल खिल जाते हैं
रंगों में रंग मिल जाते हैं
होली के दिन दिल खिल जाते हैं
रंगों में रंग मिल जाते हैं
होली है..
गोरी तेरे रंग जैसा
तोडासा मैं रंग बना लूँ
आ तेरे गुलाबी गालों से
तोड़ा सा गुलाल चुरा लूँ
जारे जा दीवाने तू होली के बहाने तू
जारे जा दीवाने तू होली के बहाने तू
छेड़ ना मुझे बेसरम
पूछ ले ज़माने से ऐसे ही
बहाने से लिए और दिए दिल जाते हैं
होली के दिन दिल खिल जाते हैं
रंगों में रंग मिल जाते हैं
होली के दिन दिल खिल जाते हैं
रंगों में रंग मिल जाते हैं || 
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
1971 में आयी फिल्म "कटी पतंग "का गाना आज न छोड़ेंगे बस हमजोली को आशा पारेख और राजेश खन्ना जी पर फिल्माया गया है | इसे गाया है  लता मंगेशकर जी और किशोर कुमार जी ने | 
आज न छोड़ेंगे 
आज न छोड़ेंगे बस हमजोली
खेलेंगे हम होली
चाहे भीगे तेरी चुनरिया
चाहे भीगे रे चोली
खेलेंगे हम होली
होली है!
अपनी अपनी किस्मत है ये
कोई हँसे, कोई रोये
रंग से कोई अंग भिगोये रे
कोई असुवन से नैन भिगोये
रहने दो ये बहाना
क्या करेगा ज़माना
तुम हो कितनी भोली
खेलेंगे हम होली
आज ना छोड़ेंगे..
ऐसे नाता तोड़ गए हैं
मुझसे ये सुख सारे
जैसे जलती आग किसी बन में
छोड़ गए बंजारे
दुःख है इक चिंगारी
भर के ये पिचकारी
आयी मस्तों की टोली
खेलेंगे हम होली
आज ना छोड़ेंगे..
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
अमिताभ बच्चन और हेमा मालिनी के ऊपर फिल्माया गया यह गाना 2003 में आई फिल्म  " बागबान " का है | इसे आदेश श्रीवास्तव,अलका याग्निक ,अमिताभ बच्चन, हेमा सरदेसाई, ऋचा शर्मा,सुदेश भोसले ,सुखविंदर सिंह, उदित नारायण,स्नेहा पंत ने गाया है | 
होली खेले रघुवीरा अवध में 
ताल से ताल मिले मोरे बबुआ..
बाजे ढोल मृदंग..
मन से मन का मेल जो हो तो..
रंग से मिल जाए रंग
हो.. होरी खेले रघुवीरा
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीर| 
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
अरे
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
हाँ हिलमिल आवे लोग लुगाई
हिलमिल आवे लोग लुगाई
हिलमिल आवे लोग लुगाई
भाई महलन में भीरा अवध में
होरी खेले रघुवीरा
अरे होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
होली है..
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
अरे होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
तनिक शर्म नहीं आये देखे नाहीं अपनी उमरिया
तनिक शर्म नहीं आये देखे नाहीं अपनी उमरिया
हो साठ बरस में इश्क लड़ाए
साठ बरस में इश्क लड़ाए
मुखड़े पे रंग लगाए, बड़ा रंगीला सांवरिया
मुखड़े पे रंग लगाए, बड़ा रंगीला सांवरिया
चुनरी पे डारे अबीरा अवध में
होरी खेरे रघुवीरा
अरे चुनरी पे डारे अबीरा अवध में
होरी खेरे रघुवीरा
अरे होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
हाँ हिलमिल आवे लोग लुगाई
भाई महलन में भीरा अवध में
होरी खेले रघुवीरा होली है..
अरे होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
हे.. अब के फाग मोसे खेलो ना होरी
हाँ हाँ ना खेलब ना खेलब
तोरी शपथ मैं उमरिया की थोरी
हाय हाय हाय चाचा
देखे है ऊपर से, झांके नहीं अन्दर सजनिया
देखे है ऊपर से, झांके नहीं अन्दर सजनिया
उम्र चढ़ी है दिल तो जवां है
उम्र चढ़ी है भैया दिल तो जवां है
बांहों में भरके मुझे ज़रा झनका दे पैंजनिया
बांहों में भरके मुझे ज़रा झनका दे पैंजनिया
साँची कहे है कबीरा अवध में
होरी खेले रघुवीरा
अरे साँची कहे है कबीरा अवध में
होरी खेले रघुवीरा
अरे, होरी खेले रघु
हो.. होरी खेले रघुवीरा
अवध में होरी खेले रघुवीरा
होरी खेले रघुवीरा
अवध में होरी खेले रघुवीरा
हिलमिल आवे लोग लुगाई
हाँ हिलमिल आवे लोग लुगाई
भाई महलन में भीरा अवध में
होरी खेले रघुवीरा होली है..
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
अरे भैया होरी खेले, रघुवीरा अवध में
होरी खेले रघुवीरा
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
होरी खेले रघुवीरा अवध में होरी खेले रघुवीरा
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
दिलीप कुमार और वहीदा रेहमान पर फिल्माया गया होली आयी रे गीत १९८४ में आयी फिल्म "मशाल" से है | इसे जावेद अख्तर ने लिखा और  लता मंगेशकर जी, किशोर कुमार जी और महेंद्र कपूर ने गाया है | 
होली आई रे 
ओ होली आई, होली आई देखो होली आई रे
ओ होली आई, होली आई देखो होली आई रे
खेलो खेलो रंग है, कोई अपने संग है
भीगा भीगा अंग है,
हो होली आई, होली आई देखो होली आई रे
ओ होली आई, होली आई देखो होली आई रे
बहकी बहकी चाल है, चेहरा नीला लाल है
दीवाने क्या हाल है
हो मस्तों पर है मस्ती छाई
देखो होली आई रे
ओ होली आई, होली आई देखो होली आई रे
जो लाये रंग जीवन में.. होए होए
उसे होली में पाया है
जो लाये रंग जीवन में, उसे होली में पाया है
बताऊँ क्या तुम्हें यारों, किसे मैंने बुलाया है
या मत बुला, या बता दे दिल की बातें
ना छुपा दुनिया से चोरी है क्या
ये लड़की है या काली माई
देखो होली आई रे
ओ होली आई, होली आई देखो होली आई रे
यही दिन था यही मौसम
ज़ुबान जब हमने खोली थी
यही दिन था यही मौसम
ज़ुबान जब हमने खोली थी
कहाँ अब खो गए वो दिन
की जब अपनी भी होली थी
तुम हो तो हर रात दिवाली
हर दिन मेरी होली है
हाँ..
तुम हो तो हर रात दिवाली
हर दिन मेरी होली है
तुम हो तो हर रात दिवाली
हर दिन मेरी होली है
अरे ये क्या चक्कर है भाई
देखो होली आई रे
ओ होली आई, होली आई देखो होली आई रे
हमारा कौन दुनिया में, यहाँ जो है पराया है
हमारा कौन दुनिया में, यहाँ जो है पराया है
मगर अपना लगा कोई, ये ऐसा कौन आया है
इतना क्या मजबूर है
दिल क्यों गम से चूर है
तु ही सबसे दूर है
दिलों के पास बहुत ले आई
देखो होली आई रे
ओ होली आई, होली आई, देखो होली आई रे
आ हा हा हा होली आई रे, देखो होली आई रे
आई रे होली आई रे
होली आई, होली आई, देखो होली आई रे
ओ होली आई, होली आई, देखो होली आई रे
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
बालम पिचकारी गाना होली के दिन हर एक के जुबान पे जरूर होती है ,ये 2013 में आयी फिल्म ये जवानी है दीवानी का है | इसे अभिनेत्री दीपिका पादुकोण और रणबीर कपूर पर फिल्माया गया है | इसे शाल्मली खोलगड़े और विशाल डडलानी ने गाया है | 
बालम पिचकारी जो तूने मारी 
बालम पिचकारी जो तूने मुझे मारी
तो बोले रे ज़माना ख़राबी हो गयी
मेरे अंग राजा जो तेरे रंग लगा
तो सीधी-सादी छोरी शराबी हो गयी

इतना मज़ा, क्यूँ आ रहा है
तूने हवा में भांग मिलाया
इतना मज़ा, क्यूँ आ रहा है
तूने हवा में भांग मिलाया
दुगना नशा क्यूँ हो रहा है
आँखों से मीठा तूने खिलाया
हो तेरी मलमल की कुर्ती गुलाबी हो गयी
मनचली चाल कैसे नवाबी हो गयी तो
बालम पिचकारी जो तूने मुझे मारी
तो सीधी साधी छोरी शराबी हो गयी
हां जीन्स पहन के जो तूने मारा ठुमका
तो लट्टू पड़ोसन की भाभी हो गयी
बालम पिचकारी जो तूने मुझे मारी
तो सीधी साधी छोरी शराबी हो गयी
हां जीन्स पहन के जो तूने मारा ठुमका
तो लट्टू पड़ोसन की भाभी हो गयी
तेरी कलाई है, हाथों में आई है
मैंने मरोड़ा तो लगती मलाई है
महंगा पड़ेगा ये चस्का मलाई का
उपवास करने में तेरी भलाई है
हो बिंदिया तेरी महताबी हो गयी
दिल के अरमानों में बेहिसाबी हो गयी
बालम पिचकारी जो तूने मुझे मारी
तो सीधी साधी छोरी शराबी हो गयी
हां जीन्स पहन के जो तूने मारा ठुमका
तो लट्टू पड़ोसन की भाभी हो गयी
क्यूँ no vacancy की होठों पे गाली है
जबकि तेरे दिल का कमरा तो खाली है
कमरा तो खाली है …
मुझको पता है रे …क्या चाहता है तू
बोली भजन तेरी नीयत कवाली है
जुल्मी ये हाज़िर-जवाबी हो गयी
तू तो हर ताले आज चाबी हो गयी तो
So..
बालम पिचकारी जो तूने मुझे मारी
तो सीधी साधी छोरी शराबी हो गयी
हां जीन्स पहन के जो तूने मारा ठुमका
तो लट्टू पड़ोसन की भाभी हो गयी
बालम पिचकारी जो तूने मुझे मारी
तो सीधी साधी छोरी शराबी हो गयी
हां जीन्स पहन के जो तूने मारा ठुमका
तो लट्टू पड़ोसन की भाभी हो गयी
हां बोले रे ज़माना ख़राबी हो गयी
हां बोले रे ज़माना ख़राबी हो गयी
---------------------------------------------------------------------------
इसे भी पढ़े :
 holi के 5 बेहतरीन पकवान || holi पे बनाएं ये पकवान और सबको खिलाएं || holi receipe


Post a comment

0 Comments